CBSE Class 12 Sociology Hindi 01

CBSE Class 12 समाजशास्त्र
Sample Paper 01

समय : 3 घंटे
M.M. : 80

  1. प्रश्न-पत्र के चार खण्ड हैं।
  2. प्रश्नों की कुल संख्या 38 है।
  3. सभी प्रश्न अनिवार्य हैं।
  4. प्रश्न संख्या 1-20 तक वस्तुनिष्ठ प्रश्न है प्रत्येक प्रश्न 1 अंक का है।
  5. प्रश्न संख्या 21-29 तक, लघुत्तरात्मक प्रश्न है। प्रत्येक प्रश्न 2 अंक का है। प्रत्येक प्रश्न का उत्तर 30 शब्दों से अधिक नहीं होना चाहिए।
  6. प्रश्न संख्या 30-35 तक दीर्घ उत्तर वाले प्रश्न हैं। प्रत्येक प्रश्न 4 अंक का है। प्रत्येक प्रश्न का उत्तर 80 शब्दों से अधिक नहीं होना चाहिये।
  7. प्रश्न संख्या 36-38 तक अति दीर्घ उत्तर वाले प्रश्न हैं। प्रत्येक प्रश्न 6 अंक का है। प्रत्येक प्रश्न का उत्तर 200 शब्दों से अधिक नहीं होना चाहिए।
  8. प्रश्न संख्या 38 का उत्तर दिये गये अनुच्छेद के आधार पर देना है।

खंड अ

  1. माल्थस के जनसंख्या नियंत्रण के दो प्रकारों के अवरोध का उल्लेख किया गया है ________ अवरोध और ________ अवरोध।
  2. एक समूह के सदस्यों द्वारा समूह के बारे में पूर्व कल्पित विचार या विश्वास को ________ कहते हैं।
  3. एक केन्द्रीकृत स्थान पर विशाल पैमाने पर किया गया वस्तुओं का उत्पादन ________ कहलाता है।
  4. सरकार सार्वजनिक कंपनियों के अपने शेयर्ज को निजी क्षेत्र की कंपनियों को बेचने का प्रयास करती है जिसे ________ कहते हैं।
  5. एक स्थानीय संस्कृति का विश्व की संस्कृति से मिश्रण ________ कहलाता है।
  6. अस्पृश्यता के आयाम हैं-
    1. अपवर्जन या बहिष्कार
    2. अनादर
    3. शोषण
    4. उपरोक्त तीनों
  7. आधुनिक भारत का पिता किसे कहते हैं-
    1. रानाडे
    2. सर सैय्यद अहमद खाँ
    3. ज्योतिबा फुले
    4. राजा राम मोहन राय
  8. बहुराष्ट्रीय कंपनियाँ किसी कार्य को सस्ती दर पर विकासशील देशों की छोटी कंपनियों से करवाती हैं उसे कहते हैं-
    1. पारराष्ट्रीय निगम
    2. निगम संस्कृति
    3. आउटसोर्सिंग सर्विस
    4. उपरोक्त सभी
  9. सन् 2000 में बिहार से अलग होकर राज्य बना।
    1. उत्तराखण्ड
    2. झारखंड
    3. उत्तरांचल
    4. छत्तीसगढ़
  10. किसान आंदोलन के उदाहरण है।
    1. तेलंगाना
    2. तेभागा
    3. बारदौली
    4. उपरोक्त सभी
  11. एटक (AITUC) किससे संबंधित है-
    1. किसान
    2. श्रमिक
    3. पूंजीपति
    4. जमींदार
  12. कृषिक संरचना
    मध्यम तथा बड़े जमीनों के मालिक  काश्तकार या पट्टेदार  कृषि मजदूर

सही कथन लिखें-

  1. एंडरसन को मीडिया को लोकतंत्र के पहरेदार की भूमिका दी।
  2. संगठित क्षेत्र के अंतर्गत रोजगार स्थायी नहीं होता और न ही पेंशन मिलती है।
  3. संस्कृतिकरण वह प्रक्रिया है जिसमें उच्च जाति निम्न जाति की जीवन पद्धति, विचारों रहन-सहन खान-पान आदि का अनुसरण करती है।
  4. औसतन 10-12 घंटे का कार्यदिवस और रात भर कार्य करने को समय की चाकरी कहते हैं।
  5. वे कंपनियां एक से अधिक देशों में अपने माल का उत्पादन करती हैं और बेचती हैं। उसे वित्त का भूमण्डलीकरण कहते हैं।
  6. 1921 में एटक (AITUC) की स्थापना जमींदारों के लिए की गई।
  7. डार्विन ने वैज्ञानिक प्रबंधन या टेलरिज्म नामक व्यवस्था का आविष्कार किया।
  8. जो मजदूर छुट्टी पर गए हुए मजदूरों के स्थान पर काम करते हैं उसे गिरमिटिया मजदूर कहते हैं।

खंड ब

  1. सामाजिक अपवर्जन या बहिष्कार क्या है?
  2. गिरता हुआ पराश्रित अनुपात आर्थिक वृद्धि व समृद्धि का कारक माना जा रहा है क्यों?
  3. खासी जनजाति की मातृवंशीय व्यवस्था में पुरुषों को दोहरी भूमिका क्यों निभानी पड़ती है?
  4. पण्यीकरण या वस्तुकरण से आप क्या समझते है?
  5. समर्थन मूल्य और सब्सिडी में अंतर लिखिए।
  6. निगम संस्कृति या कारपोरेट संस्कृति से आप क्या समझते हैं?
  7. अल्पसंख्यकों की रक्षा के लिए दो संविधानात्मक प्रावधान बताइये?
    अथवा

    धर्मनिरपेक्षीकरण किसे कहते हैं?

  8. गतिशील संसाधन से आप क्या समझते हैं?
  9. फोर्डिज्म एवं उत्तर फोर्डिज्म में अंतर बताओ।
    अथवा

    प्रबंधक के मुख्य कार्य क्या होते हैं?

खंड स

  1. जाति व्यवस्था में पृथक्करण और अधिक्रम की क्या भूमिका है?
  2. भूमण्डलीकरण के अंतर्गत क्या-क्या प्रक्रियाएँ सम्मिलित हैं?
  3. समाचार पत्र उद्योग में जो परिवर्तन हो रहे हैं, उनकी रूपरेखा प्रस्तुत कीजिए?
    अथवा

    भूमिगत खानों में कार्य करने वाले कामगारों को किन मुसीबतों का सामना करना पड़ता है?

  4. अन्य पिछड़े वर्ग क्या है? यह दलितों से कैसे भिन्न हैं? व्याख्या करें।
    अथवा

    क्षेत्रवाद क्या होता है? क्षेत्रवाद को कैसे दूर किया जा सकता है?

  5. ग्रामीण की आवाज को सामने लाने में 73वां संविधान संशोधन महत्वपूर्ण है चर्चा करें।
  6. मजदूरों का संचार (सरकुलेशन) क्या है। विस्तारपूर्वक व्याख्या करें।
  7. उदारीकरण के कार्यक्रमों के तहत प्रतिकूल और अनुकूल असर की व्याख्या करो?
  8. औद्योगिक क्षरण से आप क्या समझते हैं? औद्योगीकरण और नगरीकरण का परस्पर संबंध कैसे है व्याख्या करें।
    अथवा

    सामाजिक आंदोलन क्या होते हैं? सामाजिक आंदोलन भारतीय समाज में कौन-कौन से परिवर्तन लायें? उनका वर्णन करों विस्तारपूर्वक?

  9. नीचे दिए गए अनुच्छेद को पढ़िए और निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिये।
    जाति व्यवस्था को सिद्धान्तों के दो समुच्चयों के मिश्रण के रूप में समझा जा सकता है एक भिन्नता और अलगाव पर आधारित है और दूसरा संपूर्णता और अधिक्रम पर। हर जाति से यह अपेक्षित है कि वह दूसरी जहाति से कठोरता से पृथक होती है। अतः जाति के अधिकांश धर्मग्रंथ सम्मत नियमों की रूपरेखा जातियों को मिश्रित होने से बचाने के अनुसार बनाई गई हैं। इन नियमों में शादी, खान-पान एवं सामाजिक अंतःक्रिया से लेकर व्यवसाय तक के नियम शामिल हैं। वही दूसरी ओर इन विभिन्न एवं पृथक जातियों का कोई व्यक्तिगत अस्तित्व नहीं है, वे एक बड़ी संपूर्णता से संबंधित होकर ही अपना अस्तित्व बनाये रख सकती है। समाज की संपूर्णता में सभी जातियां शामिल होती हैं। प्रत्येक जाति का समाज में एक विशिष्ट स्थान होने के साथ-साथ एक क्रम श्रेणी भी होती है। एक सीढ़ी नुमा व्यवस्था जो ऊपर से नीचे जाती है, में प्रत्येक जाति का एक विशिष्ट स्थान होता है।

    1. समाज की संपूर्णता में सभी जातियाँ शामिल हैं स्पष्ट करें।
    2. जाति व्यवस्था के सिद्धांतों की चर्चा कीजिए।
X